BHARAT GK Whatsapp Group में जुड़े सिर्फ ₹20 प्रति माह में और पाएं GK के हर प्रश्न का उत्तर। ग्रुप में जुड़ने के लिए 9470054276 पर ₹20 का Paytm करें और इसी नंबर पर पेमेंट का स्क्रीनशॉट भेजें।

भारत में शकों का राज्य | Shaka kingdom in india

भारत में शकों का राज्य | Shaka kingdom in india :

भारत पर यूनानियों के आक्रमण बाद भारत पर शकों का आक्रमण हुआ। शक मद्धेशिया के घुमक्कड़ जनजाति थे। शक जाति के लोग भारत में चारागाह की खोज में आए थे। शक कन्धार एवं बलूचिस्तान का बेलन दर्रा होते हुए सिंध प्रदेश में आए इसे शक द्वीप कहा जाता है। यूनानी विद्वानों ने शक द्वीप को इंडोसाइथिया नाम दिया। भारतीय स्रोतों में शकों को सीथियन ( Indo-Scythians ) कहा जाता है। शकों की पाँच शाखायें थी :
1. अफगानिस्तान
2. पंजाब
3. मथुरा
4. पश्चिमी भारत ( महाराष्ट्र )
5. उज्जैन
पंजाब का पहला शक शासक Maues (Moga) था। भारत का पहला विजेता Maues (Moga) को माना जाता है। अफगानिस्तान में शकों की राजधानी काबुल थी। शकों ने भारत में क्षत्रप ( राजा ) एवं महाक्षत्रप की उपाधि धारण किया। कर्दम वंश शकों के प्रतिष्ठित राज्य वंश का नाम था। शकों का सबसे अधिक प्रतापी राजा रुद्रदामन प्रथम था। इनका शासन 130 से 150 ईसवी तक गुजरात के बड़े से भू-भाग पर था। रुद्रदामन ने सौराष्ट्र प्रांत में स्थित मौर्यकालीन कठियावाड़ की अर्द्धशुष्क सुदर्शन झील का जीर्णोद्धार करवाया। चंद्रगुप्त मौर्य के गवर्नर कुश गुप्त ने सुदर्शन झील का निर्माण करवाया था। रुद्रदामन ने सिंध, कोंकण, कठियावाड, मालवा, गुजरात और नर्मदा घाटी के प्रदेशों पर शासन किया। रुद्रदामन का गिरनार अभिलेख विशुद्ध संस्कृत भाषा में लिखा गया है यह सबसे लंबा अभिलेख है। रुद्रदामन ने सातवाहन शासक वषष्ठी पुत्र कुलुमवी को परास्त किया था।
शकों ने भारी संख्या में चांदी के सिक्के जारी किए। उज्जैन के शासक ने 58 ईसापूर्व में शकों को हराकर खदेड़ दिया और विक्रमादित्य की उपाधि धारण किया उसी समय (57 ई० पुर्व) विक्रम संवत नामक एक नया संवत शुरू हुआ और विक्रमादित्य एक लोकप्रिय उपाधि बन गया भारतीय इतिहास में विक्रमादित्य की उपाधि धारण करने वाले राजाओं की संख्या 14 तक पहुंच गई जिन में गुप्त सम्राट चंद्रगुप्त द्वितीय सार्वधिक विख्यात राजा था। अंतिम शक शासक रुद्र सिंह तृतीय थे जिसे गुप्त के द्वारा नष्ट कर दिया गया।

Post a Comment

2 Comments