भारतीय संविधान के स्रोत | Sources of Indian constitution - BHARAT GK

13 December 2018

भारतीय संविधान के स्रोत | Sources of Indian constitution

Contents

संविधान के स्रोत :

भारत के संविधान निर्माण में अनेक देशों के संविधान की सहायता ली गई है। भारत के संविधान पर सबसे गहरा प्रभाव 'भारतीय शासन अधिनियम 1935' का परा है। भारतीय संविधान के 395 अनुच्छेदों में से 250 ऐसी अनुच्छेद है, जो 1935 के अधिनियम से लिए गए हैं। भारतीय संविधान निर्माण में निम्नलिखित देशों के संविधान की सहायता ली गई है –

ब्रिटेन
संसदीय शासन प्रणाली, मंत्रिमंडल का सामूहिक उत्तरदायित्व, राष्ट्रपति की स्थिति, संसद एवं विधान मंडल का विशेषाधिकार, एकल नागरिकता, विधि का शासन और पद सोपान।
अमेरिका
मूल या मौलिक अधिकार, न्याय पुनर्विलोकन का अधिकार, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष न्यायपालिका, संविधान की सर्वोच्चता,  वित्तीय आपात, उपराष्ट्रपति का पद, राष्ट्रपति का महाभियोग, उच्चतम तथा उच्च न्यायालयों के न्यायाधीशों को हटाने की व्यवस्था।
आयरलैंड
निर्देशक सिद्धांत, राष्ट्रपति का निर्वाचन और राष्ट्रपति द्वारा राज्यसभा में 12 सदस्यों का मनोनयन।
कनाडा
संघात्मक व्यवस्था, संघ शब्द का प्रयोग और अवशिष्ट शक्ति।
ऑस्ट्रेलिया
प्रस्तावना की भाषा, समवर्ती सूची, संसदीय विशेषाधिकार, केंद्र-राज्य के बीच संबंध तथा शक्तियों का विभाजन।
जर्मनी
आपात उपबंध और मौलिक अधिकारों का हनन।
दक्षिण अफ्रीका
संविधान में संशोधन
फ्रांस
गणतंत्रात्मक व्यवस्था
सोवियत संघ
मौलिक या मूल कर्तव्य
जापान
विधि द्वारा स्थापित सिद्धांतों का प्रावधान

भारतीय संविधान निर्माण में विदेशी स्रोतों के उपयोग के कारण से 'भानुमती का पिटारा' या 'उधार का थैला' भी कहा जाता है।
Comments