मौलिक कर्तव्य या मूल कर्तव्य | Fundamental Duties - BHARAT GK

27 December 2018

मौलिक कर्तव्य या मूल कर्तव्य | Fundamental Duties

Contents

मौलिक कर्तव्य | Fundamental Duties

1976 में गठित स्वर्ण सिंह समिति के सिफारिश पर 42 वां संविधान संशोधन करके भारतीय संविधान में 10 मौलिक कर्तव्यों को जोड़ा गया। जिनको भाग - 4 (क) और अनुच्छेद 51 (क) में रखा गया है। मौलिक कर्तव्य रूस के संविधान से लिया गया है। पहले मौलिक कर्तव्यों की संख्या 10 थी जिसे 86 वां संविधान संशोधन 2002 के तहत अनुच्छेद - 51 में (ठ) ग्यारहवां मौलिक कर्तव्य जोड़ा गया। अनुच्छेद 51 (ठ) में वर्णन है कि 6 से 14 वर्ष के बच्चों को माता-पिता शिक्षा का अवसर उपलब्ध कराएंगे। यह अधिकार जनता के लिए नैतिक दायित्व है, उल्लंघन करने पर दंड का प्रावधान नहीं है। स्वर्ण सिंह समिति ने दंड का प्रावधान किया था, पर सरकार ने लागू नहीं किया।
Fundamental duties, flag, Indian flag

भारतीय संविधान में मौलिक कर्तव्य :

  1. (क) - भारत का प्रत्येक नागरिक भारतीय संविधान का पालन करें। उसके आदर्श संस्थाओं, राष्ट्र ध्वज, राष्ट्रगान का आदर करें।
  2. (ख) - प्रत्येक नागरिक स्वतंत्रता के लिए हमारे राष्ट्रीय आंदोलन को प्रेरित करने वाले उच्च आदर्शो को अपने हृदय में संजोए रखे और उसका पालन करें।
  3. (ग) - प्रत्येक नागरिक देश की प्रभुता एकता व अखंडता की रक्षा करें और उसे बनाए रखने में सहयोग प्रदान करें।
  4. (घ) - प्रत्येक नागरिक देश की रक्षा करें और आह्वान किए जाने पर राष्ट्र की जी जान से सेवा करें।
  5. (ङ्ग) - भारत के समस्त लोगों में समरसता और और समान भ्रातृत्व की भावना का विकास करे।
  6. (च) - देश की समन्वित सामाजिक संस्कृति की गौरवशाली परंपरा का महत्व समझे व उनका आदर और संरक्षण करें।
  7. (छ) - देश की प्राकृतिक पर्यावरण की रक्षा व उनका संवर्धन करें।
  8. (ज) - वैज्ञानिक दृष्टिकोन वह मानववाद का विकास करें और निरंतर ज्ञानार्जन कर देश की सेवा में अपना ज्ञान को लगाएं।
  9. (झ) - सार्वजनिक संपत्ति को सुरक्षित रखने का प्रयास करें और हिंसात्मक गतिविधि से दूर रहे।
  10. (ञ) - प्रत्येक नागरिक व्यक्तिगत और सामूहिक गतिविधियों के समस्त क्षेत्रों में उत्कर्ष की ओर बढ़ने का सतत प्रयास करे।
  11. (ट) - माता - पिता, अभिभावक या संरक्षक अपने 6 से 14 वर्ष के बच्चों को शिक्षा का अवसर प्रदान करे। (2002 ईस्वी में 86 वां संविधान संशोधन द्वारा जोड़ा गया)
Comments