पह्लव साम्राज्य | Pahlavas

पह्लव साम्राज्य | Pahlavas :


यूनानियों के पश्चात शक और शक के पश्चात पह्लव या पार्थियन ने भारत पर आक्रमण किया। पह्लवों का मूल निवास स्थान ईरान था। पह्लवों ने सर्वप्रथम अरकोशिया और सिस्तान में अपनी सत्ता स्थापित किया। पहला पह्लव शासक मनोनिज या बनान था।
यूनानी शासक एण्टियोकस द्वितीय के विरुद्ध किये गए विद्रोह का नेतृत्व पह्लवों की ओर से आर्सेकीज ने किया।
पह्लव का अंतिम और शक्तिशाली शासक गोंडोफर्निस था। इसने 19 ईस्वी से 45 ईस्वी तक शासन किया। पल्लवों की राजधानी तक्षशिला थी। तख्त-ए-बही अभिलेख में गोंडोफर्निश का नाम दुद्दूबहर मिलता है। इसी के समय पहला इसाई धर्म प्रचारक संत टॉमस भारत आए थे।
पार्थियन साम्राज्य का संस्थापक मिथ्राडेट्स प्रथम था। पार्थियन बौद्ध धर्मावलंबी थे। गोंडोफर्निश की मृत्यु के साथी भारत में पह्लव
साम्राज्य का पतन होना शुरू हो गया कुषाणों ने पह्लव
पर लगातार आक्रमण कर इसे समाप्त कर दिया।
















Post a Comment

0 Comments