जनजाति समाज | Tribal society

Share:
Janjati, tribe


जनजाति समाज | Tribal society :

संविधान के 89वाँ संसोधन (2013) के द्वारा एक राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (अनुच्छेद 338-क) की स्थापना की गई। प्रथम अध्यक्ष यू. एस. ढेबर को बने।
जनजातिय विकाश विभाग के अनुसार भारत में 638 जनजातियां है। भारत मे विश्व की सर्वाधिक जनजातियां निवास करती है।
भारतीय संविधान के अनुच्छेद 366 (25) जिसके अनुसार जनजाति से तात्पर्य में जनजातीय समुदायों के  अंश या समूह से है जो संविधान के अनुच्छेद 342 के तहत अनुसूचित जनजातियों के रूप में माने गए हैं।
सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति मध्यप्रदेश ( 1,53,16784 ) में निवास करती है जबकि मिजोरम सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति जनसंख्या प्रतिशत (94.4% ) वाला राज्य है।
थारू जनजाति में संयुक्त परिवार की परंपरा होती है।
भारत की सबसे बड़ी जनजाति गोंड है।
शोम्पेन जनजाति निकोबार द्वीपसमूह में पाई जाती है।
थारू जनजाति दीपावली को शोक त्योहार के रम में मानती है।
हो, उरांव तथा मुंडा जनजातियों में धार्मिक पुरुषों को पाहन कहा जाता है जबकि छत्तीसगढ़ के गोंड इन्हें बैगा, केरल के कन्निकर तथा उराली इन्हें प्लाथि कहते है।
संथाली जनजाति पुजारी को नायक कहते है।
ठक्करबापा को आदिवासियों का मसीहा कहा जाता है।
2011 की जनगणना के अनुसार भारत में अनुसूचित जनजातियों की संख्या 10,42,81,034 है जो कि देश की कुल जनसंख्या का 8.6% है।
भारत की सबसे प्राचीन जनजाति गोंड है।


भारत की प्रमुख जनजातियाँ :

राज्य
जनजातियां
आंध्र प्रदेश
चेन्चुस, कौढस सावरा, गदवा, गोंड आदि।
अरुणाचल प्रदेश
सुलुंग, मिश्मी, मोम्पा, डाबला, मिनयोंग, मिरिगेलौंग, अपतनी, मेजी आदि।
असम
राभा, दिमारा, कोछारी वोडो, मिकिर, आओ, अबोर, नागा, लुसाई आदि।
राजस्थान
सांसी, मीणा, सहरिया, भील, बंजारा, कोली, गरासिया आदि।
सिक्किम
लेपचा
ओडिशा
चेंचू, ओराँव, कोल, गोंड, सोंड, हो, जुआंग, खरिया, भुइया, संथाल आदि।
नागालैंड
अंगामी, मिकिर, नागा, नबुई नागा आदि।
मिजोरम
मीजो,, कुकी, चकमा, लाखर, लुशाई, पावो आदि।
मणिपुर
कुकी, मैटी, नागा, अंगामी आदि।
मेघालय
जयन्तिया, मिकिर, गारो, खासी आदि
झारखंड
संथाल, मुंडा, बिरहोर, हो, कोरबा, असुर, ओराँव, भुइया, भूमिज, सौरिया, गोंड आदि।
मध्य प्रदेश
बंजारा, गोंड, भील, मुण्डा, कोल, अबूझमाड़िया, लमबाडी, मुरिया, गोंड खेरवार वैगा आदि।
जम्मू कश्मीर
लद्दाखी, बक्करवाल, गुज्जर, गद्दी आदि।
केरल
मोपला, इरुला, पनियान, उराली, कदर आदि।
गुजरात
कोली, तोड़िया, बंजारा, डाफर, पटेलिया, भील आदि।
हिमाचल प्रदेश
कानोरा, लाहौली, गड्डी या गुड्डी आदि।
तमिलनाडु
टोडकोटा, कोटा, बड़गा, टोडा ( नीलगिरी पहाड़ी की मूल जनजाति)।
महाराष्ट्र
कोली, बंजारा, गोंड, चितपावन, बारली, अम्बुम्फमड़िया आदि।
त्रिपूरा
चकमा, त्रिपुरी, लुशाई, रियांग आदि।
पश्चिम बंगाल
लोघा, संथाल, भूमिज, लेपचा (दार्जलिंग क्षेत्र में) आदि।
उत्तराखंड
कोय, भोट या भोटिया ( गढ़वाल तथा कुमाई क्षेत्र मे ), थारू, नीति, मारा आदि।

No comments